Hindi News Portal
राजनीति

कांग्रेस को धूल चटाने के मेरे प्रस्ताव पर मोहर लगाएं, कमल का बटन दबाएं: ज्योतिरादित्य सिंधिया

भोपाल। हां, मैंने कांग्रेस की सरकार गिराई है, क्योंकि उस सरकार ने जनता से, आप सभी से गद्दारी की थी। कमलनाथ और दिग्विजयसिंह ने जनता से गद्दारी की है और मेरी लड़ाई इन गद्दारों के खिलाफ है। मैंने कांग्रेस सरकार को धूल चटाकर एक प्रस्ताव जनता की संसद में रखा है। अब आपको मेरे इस प्रस्ताव पर मोहर लगाना है, इसके लिए तीन तारीख को कमल का बटन दबाना है। यह बात भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुरुवार को दिमनी, मेहगांव, अंबाह और गोहद विधानसभाओं में आयोजित सभाओं को संबोधित करते हुए कही।
सिंधिया ने कहा कि 2018 में कांग्रेस की सरकार ग्वालियर-चंबल क्षेत्र के बलबूते पर बनी थी। क्षेत्र की जनता ने भरपूर साथ दिया था। 70 साल के इतिहास में पहली बार कांग्रेस को इस क्षेत्र में 18 से ज्यादा सीटें मिली थी। आपने 34 में से 26 सीटें कांग्रेस को दी थीं। यदि तीन चार सीटें भी कम होतीं, तो कमलनाथ मुख्यमंत्री नहीं होते। फिर शिवराजसिंह चौहान जी प्रदेश के मुख्यमंत्री होते। लेकिन कांग्रेस की उस सरकार ने ग्वालियर-चंबल क्षेत्र का अपमान किया, इस चंबल की माटी का अपमान किया। इस अपमान का बदला चंबल की जनता तीन नवम्बर को लेगी।
सिंधिया ने कहा कि जब कांग्रेस की सरकार बनी, तो हम सभी की अभिलाषा थी, कि क्षेत्र में प्रगति और विकास आएगा और यह सरकार विकास की जो लकीर शिवराज सरकार ने खींची थी, उससे भी लंबी लकीर खींचेगी। लेकिन कांग्रेस की सरकार आते ही कमलनाथ और दिग्विजय सिंह की जोड़ी ने भ्रष्टाचार की लकीर खींच दी। लोकतंत्र के मंदिर वल्लभ भवन को भ्रष्टाचार का अड्डा बना दिया। हमने सोचा था कि कमलनाथ उद्योगपति हैं, उद्योग लाएंगे। लेकिन इन्होंने तबादला उद्योग शुरू कर दिया। बोलियां लगने लगीं, एक-एक अधिकारी के 4-4 ट्रांसफर होने लगे।
सिंधिया ने कहा कि हमारा अन्नदाता देश और प्रदेश ही नहीं, बल्कि सारी दुनिया का पेट भरता है। उन्होंने कहा कि जो भी सरकार हमारे अन्नदाताओं से गद्दारी करेगी, उसे धूल चटाने का काम सिंधिया परिवार करता रहेगा ।
सिंधिया ने कहा कि इस चुनाव में एक तरफ कमलनाथ-दिग्विजयसिंह की वही जोड़ी है, जिसने पूरे प्रदेश के साथ गद्दारी की। दूसरी तरफ शिवराजसिंह जी के नेतृत्व में कमल की, कमाल की सरकार है। शिवराज जी ने मुख्यमंत्री बनते ही वो लॉक तोड़ दिया, जो कमलनाथ-दिग्विजयसिंह की जोड़ी ने प्रदेश के विकास पर लगाया था। क्षेत्र के विकास के लिए हम सब साथ हैं
सिंधिया ने कहा कि 2018 के चुनाव में मैं और शिवराज जी आमने-सामने थे। हमारे बीच प्रतिस्पर्धा थी, लेकिन वह विकास, प्रगति और जनता की सेवा के लिए प्रतिस्पर्धा थी। अब हम दोनों साथ हैं, एक हैं और क्षेत्र के विकास के लिए, प्रदेश के विकास के लिए संकल्पित हैं। मेरे दिल में एक ही तमन्ना है कि ग्वालियर चम्बल की जनता के दिल में छोटा सा स्थान मिल जाए। तो मैं अपने आप को सफल मानूंगा।

 

23 October, 2020

जून में कांग्रेस को मिलेगा नया अध्यक्ष कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में सहमति बनी
किसानों के आंदोलन का समर्थन करने के लिए कार्ययोजना तैयार की है
ममता बनर्जी ने NCP चीफ शरद पवार से केंद्र के खिलाफ विपक्ष को एकजुट होने की अपील की
ममता बनर्जी ने शरद पवार से भी रविवार को फोन पर बात की। महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक ने यह जानकारी दी।
ममता बनर्जी को बहुत बड़ा झटका, बंगाल सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री शुभेंदु अधिकारी बीजेपी में शामिल
गृह मंत्री के पश्चिम बंगाल दौरे पर पहुंचते ही वहां की राजनीति में बड़ा बदलाव हुआ
किसान आंदोलन का क्रेडिट लेने को भिड़ रहे AAP और कांग्रेस? अब अमरिंदर ने केजरीवाल पर साधा निशाना
अमरिंदर सिंह ने कहा कि कृषि कानूनों को लागू करने से लेकर दिल्ली के एक कोने में किसानों को भेज देने की कोशिश करने तक, केजरीवाल ने बार-बार साबित किया है कि वह किसानों के हमदर्द नहीं हैं। उन्होंने दिल्ली के सीएम को चेतावनी दी कि पंजाब सरकार और किसानों के बीच दरार पैदा करने का उनका ये नया प्रयास सफल नहीं हो
हार के बाद पहली बार बोले तेजस्वी, कहा- बिहार का फैसला हमारे पक्ष में है
प्रेस वार्ता में तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार और भारतीय जनता पार्टी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार में अगर नैतिकता है तो कुर्सी छोड़ दें। बिहार का फैसला हमारे पक्ष में है।